Your cart

No products in the cart.

मस्तिष्क की सेहत के लिए प्राकृतिक समाधान

माइंड वरदान

महिलाओं के जीवन रूप में उन्हें स्वास्थ्य संबंधित अनेक बीमारियों का सामना करना पड़ता है जैसे अनियमित माहवारी यह एक ऐसा हानिकारक रोग है जो तमाम महिलाओं ने महसूस किया और उससे जूझा है। अनियमित माहवारी का सीधा संबंध मानसिक स्थिति से जुड़ा होता है। यदि आप कुछ दिनों से काफी तनाव से गुजर रहे है, तो आपके मस्तिष्क पर इसका गंभीर असर हो सकता है। मस्तिष्क हमारे शरीर का मुख्य हिस्सा होता है। अगर यहाँ कोई गड़बड़ हो जाये तो हमें कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है जैसे: याददास्त की कमजोरी, लकवा, मिर्गी, पागलपन, अलजाइमर, मंदबुद्धि अथवा अनेक Neuro समस्याएँ उत्पन्न हो सकती है। आज भी एलोपैथी में इनके लिए अधिकतर नींद की दवाएं ही दी जाती हैं जबकि आयुर्वेद में इसके उपाय उपलब्ध है।

माइंड वरदान सेवन के संयुक्त लाभ

मस्तिष्क की याद रखने की क्षमता बढ़ती है।

नींद की समस्या, सिर में भारीपन या सिर दर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

डिप्रेशन, तनाव और चिंता जैसी बीमारियों से राहत मिलती है।

बड़े बच्चे को बिस्तर में पेशाब करने की समस्या में राहत देता है।

कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी कर रहे तथा अन्य विद्यार्थियों की पढाई संबंधित समस्याओं को दूर करने में अशरदार सिरप हैं।

यदि महिलाएं माहवारी की तारीख़ नियमित करना चाहती है तो उन्हें पहले मानसिक स्थिति को महत्व देना चाहिए।

भारतीय नागरिकों के लिए असरदार जड़ी बूटियों का महामिश्रण

माइंड वरदान सिरप

अकरकरा

यह सिर और चेहरे की नसों में दर्द से राहत दिलाता है।
स्ट्रोक के प्रभाव को कम करने के लिए इसका उपयोग उत्तम है।
मिर्गी के प्रभाव को भी कम करता है।
न्यूरॉन्स के बेहतर काम करने में लाभकारी है।

वच

हकलाने में परेशानी को बेहतर करता है। सरदर्द में लाभकारी है।
याददाश्त सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है।

ब्राह्मी

यह तेज याददाश्त के लिए विश्व प्रसिद्ध औषधि है। तनाव में राहत प्रदान करती है।
इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है।
मजबूत दिमाग के लिए अनिंद्रा व बेचैनी से छुटकारा दिलाने में बहुत ही कारगर।

मण्डूकपर्णी

यह स्मृतिवर्धक तथा बुद्धिवर्धक औषधि है। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं को पुनर्जीवित करती है।
दिमागी उलझन और तनाव को कम करके दिमागी स्पष्टता में सुधार लाती है
मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति में सुधार कर ये मस्तिष्क को ऑक्सीजन देती है
मस्तिष्क के चिंता तनाव जैसे अनेक विकारों में लाभकारी है।

शंखपुष्पी

यह एक शक्तिशाली औषधि है जो मस्तिष्क की क्षमता और दिमागी सोचने-समझने की शक्ति बढ़ाती है। यह एकाग्रता बेहतर करती है।

तनाव व मानसिक थकान को दूर करती है। यह मानसिक शांति के लिए अमृत समान औषधि है।

मालकांगनी

यह तंत्रिका तंत्र के लिए फायदेमंद है।
यह बुद्धि (इंटेलीजेंस) को बेहतर बनाने में सहायक है।
दुर्बलता अथवा सुस्ती को दूर करने में कारगर है।
मिर्गी से राहत के लिए इसका सेवन करना लाभकारी होता है।

अश्वगंधा

अश्वगंधा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है तथा मस्तिष्क के कार्यक्षमता में वृद्धि करता है। यह एंडोर्फिन को रिलीज करता है जिससे तनाव से बचने में सहायता मिलती है।
मस्तिष्क को सुकून देने के साथ साथ नींद अच्छी करता है तथा यादाश्त भी बढ़ाता है।

मुलेठी

मुलेठी में डिप्रेशन पर असर करने वाले मैग्नीशियम, कैल्शियम और बीटा कैरोटीन आदि खनिज और फ्लेवोनोइड्स पाए जाते हैं। इसलिए यह डिप्रेशन की समस्या को कम करने में मदद करता है। मुलेठी में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो अधिवृक्क ग्रंथि पर सकारात्मक प्रभाव डालते है। जिससे अप्रत्यक्ष रूप से मस्तिष्क उत्तेजित होता है जिससे स्मृति शक्ति बढ़ती है।

तगर

तगर जड़ीबूटी नींद न आने की परेशानी दूर करती है।
आंखों की बीमारी में तगर का उपयोग फायदेमंद होता है।
तनाव एवं चिंता करे कम करती है।
डायबिटीज में फायदेमंद होती है।

अर्जुन

यह दिल की बीमारियों में फायदेमंद होती है। ​कैंसर के जोखिम को कम करती है।
​अस्थमा को रोकने में मददगार साबित है।
​यूरिन इंफेक्शन से राहत दिलाती है।

रसना

कमर का दर्द दूर करती है।
योन‍ि का दर्द दूर करती है।
कब्‍ज की समस्‍या दूर करती है।
गंजेपन से राहत में फायदेमंद होती है।

लहसुन

डायबिटीज के खतरे को कम करता है। पाचन को ठीक रखता है।
दांतों को मजबूत रखता है।
जुखाम-बुखार से बचाता है।

हरड़

पाचन तंत्र में सुधार लाता है।
उल्टी के समस्या को दूर करता है।
बवासीर की समस्या में फायदेमंद होता है। वजन घटाने की समस्या में फायदेमंद होता है।

आंवला

बालों की समस्या में लाभकारी होता है। नाक से खून बहने की समस्या को कम करता है।
गले की खराश से राहत दिलाता है।
बार बार उल्टी की समस्या से राहत दिलाता है।

नागरमोथा

दांतों की समस्याओं को दूर करता है। मलेरिया या टाइफाइड में होने वाले बुखार से मुक्ति दिलाता है।
पेट दर्द दूर करने में असरदार है।
नागरमोथा का प्रयोग मासिक धर्म में होने वाली समस्याओं जैसे पेट दर्द, अपच या ऐंठन आदि को दूर करने में प्रभावी होता है।

गुग्गुल

इसमें विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट, क्रोमियम जैसे अनेक घटक होते हैं। इनके कारण गुग्गुल कई प्रकार के रोगों के लिए फायदेमंद साबित होता है। खट्टी डकार या अम्लपित्त से राहत दिलाता है।
यह जोड़ों के दर्द में आराम दिलाता है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने में लाभकारी है।

माइंड वरदान सिरप के उपयोग

उपयोग न. 1

मस्तिष्क की याद रखने की क्षमता बढ़ती है।

उपयोग न. 2

बार-बार नींद आने की समस्या से पाए हमेशा के लिए छुटकारा।

उपयोग न. 3

सिर भारी व सिर दर्द की समस्या से छुटकारा।

उपयोग न. 4

डिप्रेशन, तनाव और चिंता जैसी बीमारियों से राहत।

उपयोग न. 5

बड़े बच्चे को बिस्तर में पेशाब करने की समस्या से पाएं छुटकारा।

उपयोग न. 6

कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी कर रहे तथा अन्य विद्यार्थियों की पढाई एवं याद न रख पाने की समस्या से पाएं छुटकारा।

माइंड वरदान सिरप प्राकृतिक एवं आयुर्वेदिक जड़ीबूटियों का समावेश है

अकरकरा

वच

ब्राह्मी

मंडुकपर्णी

शंखपुष्पी

मालकांगनी

अश्वगंधा

मुलहठी

तगर

अर्जुन

रसना

लहसुन

हरड़

आंवला

नागरमोथा

गुग्गुल

mind verdaan syrup 200x513
mind verdaan syrup 200x513

अब मानसिकता से संबंधित कष्ट और ना सहे। राहत पाने के लिए आज ही पहला कदम उठाएं।

मात्र 7 दिन के ट्रायल पैक से करें शुरुआत।

1 महीने का कोर्स शुरू करने के लिए।

आज ही अपने पहले आर्डर पर 30% तक डिस्काउंट प्राप्त करें।

veda website mind syrup image
फॉर्म में अपना विवरण लिखें और सबमिट करें। हमारे कार्यकारी शीघ्र ही आपसे संपर्क करेंगे और आपके सभी प्रश्नों को हल करने का प्रयास करेंगे।

सवाल और जवाब

प्र. 1

कितने दिनों में असर शुरू हो जाता है?

उ.

माइंड वरदान में डाली गई आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों का असर पहले दिन से ही आरंभ हो जाता है पर आराम समस्या की प्रकृति पर निर्भर करता है। इससे अक्सर 2 से 7 दिन में आराम महसूस होने लगता है।

प्र. 2

कितने समय का कोर्स करना है?

उ.

पुरानी से पुरानी समस्या में अक्सर एक माह में संतुष्टिजनक आराम मिल जाता है। लेकिन बार-बार तकलीफ से बचना चाहते हैं तो तीन माह का कोर्स करना अनिवार्य है।

प्र. 3

इस्तेमाल कब नहीं करना चाहिए?

उ.

उच्च स्तर की बीमारी के समय या कोई गंभीर बीमारी होने पर इसका उपयोग नहीं करना चाइये।

प्रत्येक व्यक्ति के लिए व्यापारिक एवं पारिवारिक चिंता एवं तनाव से राहत के लिए इसका सेवन जरूर करे।

100% सुरक्षित और लेब टेस्टेड।

4.5
4.5/5
कोई दुष्प्रभाव नहीं

सम्पूर्ण प्राकृतिक जड़ी बूटियों से निर्मित

ये भी आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं

महिलाओं की सम्पूर्ण समस्याओं का प्राकृतिक समाधान 100% आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से निर्मित

एच बी वरदान सिरप, जो शरीर में खून को बढ़ाता हैं और खून की कमी से होने वाला रोगो को दूर करता हैं ।

Translate »